Blog

जवान रहना है तो मौन हो जाओ? –आइंस्‍टीन की क्रांतिकारी खोज

जवान रहना है तो मौन हो जाओ? –आइंस्‍टीन की क्रांतिकारी खोज

अल्‍बर्ट आइंस्टीन ने खोज की और निश्‍चित ही यह सही होगी, क्‍योंकि अंतरिक्ष के बारे में इस व्‍यक्‍ति ने बहुत कठोर परिश्रम किया था। उसकी खोज बहुत गजब की है। उसने स्‍वयं ने कई महीनों तक इस खोज को अपने मन में रखी और विज्ञान जगत को इसकी सूचना नहीं दी क्‍योंकि उसे भय था कि कोई उस पर विश्‍वास नहीं

जवान रहना है तो मौन हो जाओ? –आइंस्‍टीन की क्रांतिकारी खोज

वेदना और विषाद ही अंततः शारीरिक बीमारियों का रूप लेते हैं

वेदना और विषाद

शुरुआत में यूरोप वालों के लिए योग का अर्थ शरीर को खींचने-तानने और ऐंठने-मरोड़ने की एक कठिन भारतीय ‘हिंदू’ कला से ज्यादा नहीं था. ‘हिंदू’ शब्द उसकी व्यापक स्वीकृति और वैज्ञानिक मान्यता में मनोवैज्ञानिक बाधा डालने के लिए कभी-कभार अब भी जोड़ दिया जाता है. विज्ञान के लिए वह सब प्रायः अवैज्ञानिक और अछूत रहा है जिसका आत्मा-परमात्मा जैसी अलौकिक, अभौतिक अवधारणाओं से कुछ भी संबंध हो. जो कुछ अभौतिक है, नापा-तौला नहीं जा सकता, विज्ञान की दृष्टि से उसका अस्तित्व भी नहीं हो सकता. हालांकि महान भौतिकशास्त्री अलबर्ट आइंस्टाइन भी मानते थे कि भौतिकता से परे भी कोई वास्तविकता है.

OSHO Dynamic Meditation Research Study

This is a transcript of the Research Study of OSHO Dynamic Meditation as presented at the Interdisciplinary Social Sciences Conference in Barcelona/Spain in spring, 2012 by Avni Vyas, Ph.D with Krisana Locke and Ali von Stein.
Introduction:
What is Meditation?
How to define the term? Lets have a look at Wikipedia.

सुकरात के सूत्र

सुकरात के सूत्र

सुकरात के सूत्र

एक ईमानदार आदमी हमेशा एक बच्चा होता है।

जहाँ तक मेरा सवाल है , मैं बस इतना जानता हूँ कि मैं कुछ नहीं जानता।

हर व्यक्ति की आत्मा अमर होती है , लेकिन जो व्यक्ति नेक होते हैं उनकी आत्मा अमर और दिव्य होती है।

शादी या ब्रह्मचर्य , आदमी चाहे जो भी रास्ता चुन ले , उसे बाद में पछताना ही पड़ता है ।

मित्रता करने में धीमे रहिये , पर जब कर लीजिये तो उसे मजबूती से निभाइए और उसपर स्थिर रहिये ।

चाहे जो हो जाये शादी कीजिये . अगर अच्छी पत्नी मिली तो आपकी ज़िन्दगी खुशहाल रहेगी ; अगर बुरी पत्नी मिलेगी तो आप दार्शनिक बन जायेंगे ।

osho tree Jabalpur

The world famous Osho Tree is located at the Bhanvartal garden in Jabalpur. Here is the Maulshree Tree under which Osho got enlightened.

ओशो 12 दिन अमेरिका की जेल में थे

अमेरिका की जेल

ओशो 12 दिन अमेरिका की जेल में थे .. ना कोई आधार ना वारंट ना सबूत .. कुछ नही फिर भी राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने उन्हें जेल भिजवा दिया..
और कहा कि हम आपको बिना सबूतों के भी अंदर रखेंगे ट्रायल के रूप में और कहेंगे कि आपने देश विदेश से अपने शिष्यों को बिना वीसा के अमेरिका लाकर अमेरिकी कानून का उल्लंघन किया है ..

आपको ये साबित करने में कि आप निर्दोष हो 10 साल लग जायेंगे और तब तक आपका कम्यून आपके बिना नष्ट हो जायेगा या हम उसे तबाह कर देंगे ..और फिर हम आपको बाइज्जत आपके मुल्क भारत भेज देंगे...

Subscribe to Blog